तीसरा टेस्ट ड्रॉ, भारत ने सिरीज जीती


भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरा और अंतिम टेस्ट मैच ड्रॉ करवाकरतीन टेस्ट मैचों की सिरीज 1-0 से जीत ली है। हालांकि सिरीज कानिर्णय 2-0 भी हो सकता था लेकिन कप्तान धोनी ने जोखिम लेने सेपरहेज किया और मैच को निर्धारित समय से पहले ही ड्रॉ पर खत्मकरवा लिया। दूसरी पारी में नाबाद शतक लगाने वाले चन्द्रपाल को ‘मैन ऑफ द मैच’ और ईशांत शर्मा को ‘मैन ऑफ द सिरीज’ घोषित किया गया।

हरभजन सिंह की शानदार गेंदबाजी (57/4) के बाद सुरेश रैना के बेहतरीन प्रदर्शन (32/2) ने भारत को वेस्टइंडीज में टेस्ट सिरीज में ऐतिहासिक जीत के बिलकुल करीब ला खड़ा किया था।

यदि भारत 47 ओवर में 180 रन बनाने का लक्ष्य अर्जित कर लेता है तो तीन टेस्ट मैचों की सिरीज को वह 2-0 से फतह करने में कामयाब हो जाता लेकिन 15 ओवर शेष रहते भारत ने मैच खत्म करने का फैसला कर लिया। तब भारत का कुल स्कोर 3 विकेट पर 94 रन था। राहुल द्रविड़ 34 और वीवीएस लक्ष्मण 3 रन पर नाबाद रहे। मुरली विजय ने 45 रन की पारी खेली, जबकि रवि रामपाल ने 31 रन देकर 2 विकेट लिए।

भारतीय बल्लेबाज चाहते थे तो यह मैच जीत सकते थे लेकिन उन्होंने प्रयास ही नहीं किए। 15 ओवर में 86 रन बनाना कोई बड़ी बात नहीं थी लेकिन भारतीय यह सोचकर बैकफुट पर आ गए कि कहीं वेस्टइंडीज ने टीम को समेट लिया तो तीन मैचों की सिरीज बराबरी पर खत्म होगी यही कारण है कि धोनी ने जोखिम लेने से परहेज किया।

तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच के दिन जहां भारतीय गेंदबाज आसान जीत का सपना बुन रहे थे, वहीं उन्हें चार विकेट विकेट हासिल करने में पसीने छूट गए। शिवनारायण चन्द्रपाल ऐसा रोड़ा बन गए कि अंत तक 116 रन के स्कोर पर नाबाद ही रहे। टेस्ट करियर में चन्द्रपाल का यह 23वां और भारत के खिलाफ छठा शतक था। चन्द्रपाल का साथ एडवर्डस (30) ने बखूबी निभाया।

वेस्टइंडीज की दूसरी पारी 322 रनों पर सिमट गई, जिससे भारत को यह टेस्ट मैच जीतने लिए 47 ओवरों में 180 रनों का मामूली लक्ष्य मिला था। हरभजन सिंह ने 75 रन देकर 4 तथा सुरेश रैना ने 32 रन देकर 2 विकेट हासिल किए।

जिस मामूली लक्ष्य को भारतीय ‍बल्लेबाज मानकर चल रहे थे, वे यह नहीं जानते थे कि एडवर्डस नाम का तूफान उनके सामने खड़ा हुआ है। एडवर्डस ने भारत की दूसरी पारी की पहली ही गेंद पर अभिनव मुकुंद को आउट करके एक बड़ा झटका तो दे ही डाला।

पहला विकेट पहली ही गेंद पर गिरने से ही लग गया था कि भारतीय बल्लेबाज दिन का शेषसमय जीत के बजाए ड्रॉ के सौदे पर काट दें और हुआ भी यही। भारत ने तीन विकेट गंवाए। मुकुंद,मुरली विजय के बाद तीसरे आउट होने वाले बल्लेबाज थे सुरेश रैना, जिन्होंने केवल 8 रन बनाए।भारत इसी से प्रसन्न है कि वह वेस्टइंडीज को उसी के घर में हराकर सिरीज पर कब्जा करनेमें कामयाब रहा।

~ by bollywoodnewsgosip on July 11, 2011.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: