जीडीपी वृद्धि 8.5 फीसदी रही-मनमोहन


सरकार ने रविवार को कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के पिछले सात साल के कार्यकाल में देश की औसत सालाना वृद्धि दर 8.5 प्रतिशत पर रही और वह भारत को ‘मध्यवर्गीय आय वाले देशों’ के चुनिंदा समूह में शामिल करने के लिए प्रतिबद्ध है।

संप्रग-2 का सालाना रिपोर्ट कार्ड जारी करते हुए प्रधानमंत्री मनमोहनसिहं ने कहा कि पिछले सात सालों 2004-05 से 2010-11 के दौरान देश ने 8.5 प्रतिशत की अप्रत्याशित सालाना औसत वृद्धि हासिल की है।

मनमोहन ने कहा कि वैश्विक वित्तीय संकट ने वर्ष 2008-09 में आर्थिक वृद्धि को धीमा कर 6.8 प्रतिशत कर दिया था, लेकिन उसके बाद 2010-11 में अर्थव्यवस्था वापस उछलकर 8.6 प्रतिशत की रफ्तार पर पहुंच गई। उन्होंने कहा कि इस दौरान कृषि, उद्योग और सेवाओं के क्षेत्र में प्रभावी वृद्धि दर्ज की गई।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कृषि क्षेत्र का प्रदर्शन विशेष तौर पर संतोषजनक रहा, हमारे किसानों ने 23 करोड़ 50 लाख टन खाद्यान्न उत्पाद किया जो कि स्वतंत्रता के बाद सर्वाधिक है। सभी को साथ लेकर चलने वाले समावेशी आर्थिक विकास के लिए त्वरित और व्यापक आधार वाली आर्थिक वृद्धि को जरूरी बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत आज सतत उच्च आर्थिक वृद्धि के उस रास्ते पर आगे बढ़ने को तैयार है, जिसे दुनिया के कुछ ही देशों ने हासिल किया है।

उन्होंने कहा कि हम इस वादे को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं जिसमें भारत मध्यम आयवर्ग के उन देशों में शामिल होगा जो गरीबी, उपेक्षा और रोगों से मुक्त होगा। जिसकी वजह से काफी लंबे समय तक हम पीछे रह गए। विश्व बैंक के वर्गीकरण के अनुसार भारत, श्रीलंका, चीन, पाकिस्तान, इराक और इंडोनेशिया जैसे निम्न मध्यम आय वाली अर्थव्यवस्थाओं में शामिल है।

~ by bollywoodnewsgosip on May 23, 2011.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: