राष्ट्रपति के अभिभाषण की मुख्य बातें


संसद के बजट सत्र के पहले दिन सोमवार को राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने संसद भवन के केंद्रीय कक्ष में लोकसभा और राज्यसभा सदस्यों के संयुक्त अधिवेशन को संबोधित किया। उनके अभिभाषण में मुख्य बातें इस प्रकार हैं…

*सरकार की प्राथमिकता मुद्रास्फीति से मुकाबला करना और खाद्य वस्तुओं की बढ़ती कीमतों से आम आदमी के हितों की रक्षा करना है।

*सार्वजनिक जीवन में ईमानदारी और सत्यनिष्ठा की कमी के कारण उत्पन्न समस्याओं को प्रमुखता के आधार पर निपटाना।

*समाज के गरीब, कमजोर और वंचित वर्गों के लिए आर्थिक विकास में उपयुक्त भागीदारी को सुनिश्चित करते हुए आर्थिक विकास की गति को बनाए रखना।

*आंतरिक और बाह्य सुरक्षा के मामलों में अचूक सतर्कता बनाए रखना।

*एक ऐसी विदेशी नीति अपनाना जिससे वैश्विक स्तर पर हमारी आवाज सुनी जाए और हमारे हितों की रक्षा हो।

*मुद्रास्फीति का दीर्घकालीन समाधान उत्पादकता एवं उत्पादन बढ़ोतरी में निहित है।

*सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि किसानों को उनके सभी उत्पादों के लिए लाभदायक मूल्य मिले।

*मंत्रियों का एक समूह भ्रष्टाचार से निपटने और पारदर्शिता लाने के लिए सभी तरह के उपायों पर विचार कर रहा है।

*समूह को सार्वजनिक खरीद नीति बनाने, मंत्रियों के विवेकाधीन अधिकारों की समीक्षा एवं उन्हें खत्म करने, प्राकृतिक संसाधनों के दोहन की प्रतिस्पर्धी प्रणाली, लोक सेवकों के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामलों का तेजी से निपटान और लोक सेवकों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई की सुविधा के लिए कानूनों में संशोधन जैसे मुद्दों पर विचार करना है।

*सरकार ने प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए चुनाव सुधारों पर एक समिति गठित की है।

*नेशनल मिशन फॉर डिलीवरी ऑफ जस्टिस एंड लीगल रिफॉर्म्स के विवरण को जल्द ही अंतिम रूप दिए जाने की संभावना है।

*सरकार कालेधन के दुष्प्रभावों के बारे में पूरी तरह से चिंतित है। वह काले धन को वापस लाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी और दोषियों को सजा दिलाएगी।

*सरकार निजी एफएम रेडियो की सुविधा एक लाख और इससे अधिक आबादी वाले सभी शहरों तक पहुँचाएगी।

*खान एवं खनिज (विकास एवं नियमन) कानून की जगह एक नया कानून लाने का प्रस्ताव किया गया है।

*उम्मीद है कि संविधान संशोधन विधेयक से संसद में महिलाओं को आरक्षण उपलब्ध होगा और राज्य विधानसभाओं के मामले में लोकसभा द्वारा जल्द से जल्द विचार किया जाएगा।

*कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न से महिलाओं के संरक्षण वाला विधेयक पेश किया गया है। सरकार यौन अपराध से बच्चों की रक्षा करने के लिए एक विधेयक लाने का प्रस्ताव करती है।

*जम्मू-कश्मीर के वार्ताकार अपने प्रयासों में सफलतापूर्वक जुटे हैं।

*रक्षा प्रौद्योगिकियों के देशज विकास पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। देशज मल्टीरोल हल्के लड़ाकू विमान तेजस को भारतीय वायुसेना में शामिल किया जा रहा है।

Msn India

~ by bollywoodnewsgosip on February 22, 2011.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: